Breaking
Wed. Jun 12th, 2024
Covid-19

केरल में पिछले दो दिनों से हर रोज़ 500 से ज्यादा नए Covid-19 केस सामने आ रहे हैं। केरल द्वारा साझा किए गए आंकड़ों के मुताबिक, मंगलवार को 519 नए मामले और तीन मौतें दर्ज की गईं, जबकि बुधवार को 514 नए मामले और तीन मौतें दर्ज हुईं। इसी के चलते अब सक्रिय मामलों की संख्या 2,341 हो गई है और दिसंबर में कोविड से होने वाली मौतों की संख्या 16 पंहुच चुकी है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने डॉक्टरों से Covid-19 मामलों और लक्षणों के उभरते साक्ष्यों की निगरानी करने का अनुरोध किया है। डॉक्टरों ने कहा है कि ज्यादातर मरीज खांसी, शरीर में दर्द, कमजोरी और कभी-कभी बुखार के लक्षण लेकर आए। कुछ मरीज गंभीर रूप से बीमार पड़ रहे थे, जिन्हें अस्पताल में भर्ती करने की आवश्यकता थी। इनमें से अधिकांश वृद्ध हैं और अन्य बीमारियों से भी ग्रस्त हैं।

Covid-19 को लेकर डॉ एम आई सहदुल्ला बयान

KIMS हेल्थकेयर ग्रुप के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक और एसोसिएशन ऑफ हेल्थकेयर प्रोवाइडर्स इंडिया के अध्यक्ष डॉ एम आई सहदुल्ला ने कहा, “कोविड-19 के चलते अस्पताल में भर्ती होने वालों की संख्या लगातार बढ़ रही है और भर्ती होने वाले मरीज सभी आयु वर्ग से हैं। अब हमारे पास अस्पताल में 15 से 20 कोविड मरीज भर्ती हैं। ऐसे कुछ मरीज़ हैं, विशेषकर बुजुर्ग, जिन्हें आईसीयू में भर्ती करने की आवश्यकता है। हम ऐसी स्थिति के लिए तैयार नहीं थे और हमने अब अस्पताल में कोविड रूम बढ़ा दिए हैं। इसके अलावा, हम इस बात पर जोर दे रहे हैं कि अस्पताल आने वाले सभी मरीजों को मास्क पहनना चाहिए और सैनिटाइज़र का इस्तेमाल करना चाहिए।”

पिछले 5 महीनों में कोविड सकारात्मकता में भारी वृद्धि पर मंगलवार को आईएमए कोविड बैठक में विस्तार से चर्चा की गई और आंकड़ों के विश्लेषण से पता चला कि सकारात्मकता अगस्त में 1% और सितंबर और अक्टूबर में 2% थी। वहीं नवंबर में यह बढ़कर 8% हो गई और अब लगभग 30%। बैठक की अध्यक्षता करने वाले आईएमए-केरल के अनुसंधान सेल के अध्यक्ष डॉ. राजीव जयदेवन ने कहा, “अधिकांश कोविड पॉजिटिव रोगियों को अस्पताल में भर्ती होने की ज़रूरत नहीं होती है और कोविड निमोनिया नहीं देखा जाता है।”

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *