Breaking
Sun. Apr 14th, 2024
Volkswagen

हाल ही में एक बड़ी खबर निकलकर सामने आई है, Volkswagen India ने केंद्रीय पुलिस कल्याण भंडार के साथ पार्टनरशिप की है, जो सेवारत और सेवानिवृत्त सेवा कर्मियों और उनके परिवारों के लिए एक सरकारी कल्याण पहल है। यह सहयोग KPKB योजना के माध्यम से राष्ट्र की सेवा के लिए समर्पित व्यक्तियों तक वोक्सवैगन की कारों की पहुंच का विस्तार करता है। इस पार्टनरशिप के एक हिस्से के रूप में, निर्माता पूरे देश में केपीकेबी लाभार्थियों के लिए भारतीय पोर्टफोलियो में कारों की अपनी पूरी सीरीज का विस्तार कर रहा है।

2006 में गृह मंत्रालय द्वारा शुरू की गई KPKB पहल केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों के सेवारत और सेवानिवृत्त सदस्यों और उनके परिवारों की सेवा करती है। इसमें सीमा सुरक्षा बल, केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल, केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल, भारत-तिब्बत सीमा पुलिस, सशस्त्र सीमा बल, असम राइफल्स जैसे विभिन्न सुरक्षा बल शामिल हैं। इसी के साथ राज्य पुलिस बलों और केंद्रीय पुलिस संगठनों को इसका लाभ मिलता है।

Volkswagen की सेल्स में आई गिरावट

119 मास्टर कैंटीन और 1,800 से अधिक सहायक भंडारों के माध्यम से संचालित KPKB पूरे भारत में 35 लाख लाभार्थियों को सेवा प्रदान करता है। नवंबर 2023 में Volkswagen ने घरेलू बाजार में 3,095 इकाइयां बेचीं, जो पिछले साल इसी महीने में बेची गई 3,570 इकाइयों की तुलना में 13.3 प्रतिशत कम हैं। इसके अलावा, ब्रांड ने MoM के आधार पर अपनी बिक्री में भी काफी गिरावट देखी है, क्योंकि अक्टूबर में इसकी बिक्री 4,089 यूनिट रही थी, जो नवंबर की तुलना में लगभग 24 प्रतिशत ज्यादा थी।

वोक्सवैगन ने बढ़ती इनपुट लागत और समग्र मुद्रास्फीति की भरपाई हेतु जनवरी 2024 से अपने मॉडल रेंज में कीमतों में बढ़ोतरी की घोषणा की है। वर्तमान में कंपनी भारत में वर्टस, ताइगुन और टिगुआन जैसे लोकप्रिय मॉडल बेच रही है।

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *