Breaking
Tue. Jul 16th, 2024
Dussehra 2023

Dussehra 2023 : जैसा कि आप जानते हैं शारदीय नवरात्रि अब समाप्त हो चुके हैं। कल के दिन लोगों ने बड़ी ही धूम-धाम से महा नवमी मनाई। आज यानि 24 अक्टूबर को बड़े ही उत्साह के साथ लोग दशहरे का पर्व मनाने के लिए तैयार हैं। आपको बता दें इस दिन भगवान राम ने रावण के विरुद्ध जीत हासिल की थी। इस दिन रावण जलाकर इस पर्व को मनाने की परंपरा है।

आपको बता दें दशहरे को विजयादशमी के नाम से भी जाना जाता है। पंचांग के मुताबिक, इस बार दशहरे के दिन पंचक का साया रहने वाला है। आपको बता दें पंचक के दौरान कोई शुभ कार्य नहीं होता। आइए जानते हैं ऐसे में क्या है रावण दहन के लिए शुऊ मुहूर्त?

आपको बता दें ज्योतिष शास्त्र के जानकारों और पंचांग के अनुसार दशहरे के दिन सुबह 4:23 बजे से पंचक शुरू हो रहे हैं, जो 28 अक्टूबर को सुबह 7 बजकर 30 मिनट पर समाप्त होने वाले हैं। ऐसे में जानकारों द्वारा सलाह दी जा रही है कि पंचक के कारण रावण का पुतला जलाने के साथ 5 अन्य पुतले भी जलाएं, जिससे पंचक के कुप्रभाव को समाप्त किया जा सके।

Dussehra 2023 : लाभ-अमृत शुभ चौघड़िया मुहूर्त

ज्योतिष शास्त्र के जानकारों का कहना है कि रावण दहन के समय 5 अन्य पुतले भी जलाये जाने चाहिए, जिससे किसी तरह की कोई अप्रिय घटना ना हो। इसी के साथ पंचक दोष का भी निवारण किया जा सके। पंचांग के अनुसार, दशहरे के दिन सुबह 9 बजकर 15 मिनट से लेकर दोपहर 1 बजकर 27 मिनट तक लाभ-अमृत और चर के चौघड़िया मुहूर्त रहने वाले हैं।

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *